चंदा किसे कहते हैं | Subscription In Hindi

चंदा यह एक सरल शब्द है। इस शब्द का अधिकतर उपयोग गैर व्यापारिक संस्था के द्वारा किया जाता है। चंदा को अंशदान, सदस्यता शुल्क के नाम से जानते हैं। इस आर्टिकल में चंदा किसे कहते हैं, उदाहरण, गणना, दान, प्रकार, मानदेय आदि और पोस्ट के अंत में FAQs दिया गया है।   चंदा किसे कहते … Read more

प्राप्ति एवं भुगतान खाता तथा आय-व्यय खाता में अंतर लिखिए

गैर व्यापारिक संस्था द्वारा बनाया जाने वाला प्राप्ति भुगतान एवं आय-व्यय खाता है पिछले आर्टिकल में इन दोनों खाते के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी दी गई हैं। बहुत से स्टूडेंट का Quires आ रहा था कि सर प्राप्ति एवं भुगतान खाता तथा आय व्यय खाता में अंतर क्या होता है बताएं तो दोस्तों … Read more

आय-व्यय खाता किसे कहते हैं | Income And Expenditure Account In Hindi

आय-व्यय खाता

आय-व्यय खाता को गैर लाभकारी संगठन तैयार करती है। पिछले आर्टिकल में प्राप्ति एवं भुगतान खाते के बारे में जाना और आज के इस आर्टिकल में आय-व्यय खाते के बारे में समझेंगे जैसे की परिभाषा, विशेषता, उदाहरण, व्यवहार करने वाले सौदे, समायोजन, प्रारूप तथा यह खाता प्राप्ति और भुगतान से कैसे बनाया जाता है और … Read more

प्राप्ति एवं भुगतान खाता | Receipts And Payments Account In Hindi

प्राप्ति एवं भुगतान खाता

आपने पिछले आर्टिकल में अलाभकारी संगठन के बारे में जाना तथा इनके द्वारा कितने खाते तैयार किए जाते हैं उसे भी जाना। उसी खाते में से एक खाता प्राप्ति एवं भुगतान खाता है जिसे आज के आर्टिकल में जानेंगे। इसमें प्राप्ति एवं भुगतान खाता का परिभाषा, विशेषता, उदाहरण, दिखाई जाने वाली मदें, सीमाएं, प्रारुप तथा … Read more

गैर-लाभकारी संगठन | Not -For -Profit Organization In Hindi

गैर-लाभकारी संगठन

आपने जितने भी संगठन/संस्थाओं के बारे में जाना होगा सभी का एक ही उद्देश्य होता है अधिक से अधिक लाभ कमाना लेकिन ऐसे भी कुछ संस्थाएं होते हैं जिनका उद्देश्य समाज के कल्याण करना होता है। आज के इस नए आर्टिकल में गैर लाभकारी संगठन क्या है, उद्देश्य, विशेषता, चार उदाहरण तथा गैर-लाभकारी संस्थाओं के … Read more

पार्षद सीमा नियम तथा पार्षद अंतर नियम में अंतर स्पष्ट कीजिए

पार्षद सीमा नियम तथा पार्षद अंतर नियम में निम्नलिखित आधार पर अंतर स्पष्ट किया जा सकता है – उद्देश्य के आधार पर अंतर – पार्षद सीमा नियम बनाने का उद्देश्य कंपनी के उच्च पदाधिकारियों को कंपनी के कार्यों के नियमों तथा उपनियमों की जानकारी देना है। परिवर्तन के आधार पर अंतर – पार्षद नियम में … Read more

साझेदारी संलेख या विलेख क्या हैं | Partnership deed in hindi

साझेदारी संलेख

कोई भी व्यवसाय राष्ट्रीय या अंतर्राष्ट्रीय हो उसका अपना एक अलग ही महत्व होता हैं। सभी व्यवसाय लगभग संलेख या विलेख का इस्तेमाल करते हैं। साझेदारी व्यापार में साझेदारी संलेख। आखिर साझेदारी संलेख क्या है, साझेदारी संलेख के उद्देश्य, विषय – वस्तु, महत्व तथा इसके बारे में इम्पोर्टेन्ट बातें। आज के इस पोस्ट में आप … Read more

नए साझेदार के प्रवेश के समय फर्म के पुस्तक में आवश्यक लेखें

नए साझेदार के प्रवेश के समय फर्म के पुस्तक में कौन-कौन से लेखें किए जाते हैं। नए साझेदार के प्रवेश के समय फर्म के पुस्तक में आवश्यक लेखें किसी साझेदारी व्यापार में नए साझेदार के प्रवेश होने पर फर्म के बही में निम्नलिखित के संबंध में लेखे करने होते हैं-1. नया साझेदार द्वारा पूंजी लाने … Read more

साझेदारी व्यापार क्या हैं

साझेदारी व्यापार क्या हैं

जैसा की मैं आपको बताना चाहूंगा व्यापार कई प्रकार के होते है । उन सभी व्यापार में से एक व्यापार है साझेदारी । आज के इस पोस्ट में साझेदारी व्यापार क्या हैं, विशेषताएं, साझेदारी संलेख में किन बातों का उल्लेख होता है तथा साझेदारी फर्म का लेखांकन । साझेदारी व्यापार क्या हैं जब दो या … Read more